रिश्तों का खून : देवरानी से बदला लेने के लिए जेठानी ने कर दिया उसके मासूम का कत्ल, और छिपा आई खेत में। ऐसे खुला राज

350
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, कुशीनगर।

आपसी झगड़ों में लोग संवेदना भूल कैसे रिश्तों का खून कर रहे हैं, इसकी बानगी कुशीनगर में देखने को मिली। जहां देवरानी-जेठानी के रोज के झगड़े में एक मासूम का कत्ल कर दिया गया। यह कत्ल भी किसी और ने नहीं बल्कि मासूम की बड़ी मां (मम्मी की जेठानी) ने ही कर डाला। वो भी सिर्फ इसलिए की मासूम की मां (देवरानी) से पटरी नहीं खा रही थी। पुलिस ने बुधवार को हत्यारोपी को गिरफ्तार भी कर लिया।

कुशीनगर जिले में रामकोला थाना क्षेत्र में एक गांव है टोला विशन पुरा। जहां दो भाई शारदा चौहान और नर्वदा चौहान। दोनों की पत्नी में आये दिन झगड़ा होना आम बात थी। 30 सितंबर को भी इनमें बहुत ज्यादा झगड़ा हो गया था। मामला इतना टूल पकड़ गया कि पुलिस को सूचना मिल गई और पुलिस गावँ में आ गई। दोनों पक्षों को पुलिस थाने बुला लाई, जहां बाद में दोनों ने रजामंदी जता दी। पुलिस ने भी हिदायत देकर घर भेज दिया। लौटते वक्त शारदा की पत्नी बाजार में रुककर खरीददारी करने लगी। जबकि नर्मदा की पत्नी घर आ गई।
थानाध्यक्ष केपी सिंह ने बताया कि घर लौटने पर नर्मदा की पत्नी ने शारदा के सात वर्षीय मासूम को खेलते देखा और प्यार से उसको बुला लिया। मासूम अक्सर नर्मदा के घर खेलने पहुंच भी जाता था। इसी का फायदा उठाते हुए नर्मदा की पत्नी मासूम को गन्ने के खेत मे ले गई और वहां उसका गला दवाकर हत्या कर दी। शारदा पत्नी संग घर लौटा तो मासूम राजन दिखाई ही नहीं दिया। काफी खोजबीन करने पर भी सुराग नहीं लगा तो पुलिस को सूचना दी। मगर शारदा और उसकी पत्नी ने यह अंत तक नहीं सोचा कि जेठानी बदले में ऐसा भी कदम उठा सकती है। मगर गन्ने के खेत मे घुसी एक महिला ने जब मासूम का शव देखा तो चीख निकल गई। सूचना पर पुलिस पहुँच गई। तब से पुलिस हत्यारोपी की तलाश में जुटी थी। पुलिस ने अंत में नर्मदा की पत्नी अंजू से पूछताछ की तो कई बार बयान बदले। सख्ती बरतते ही वह टूट गई और उसने सच्चाई उगल दी। पुलिस ने बुधवार को पूरा घटनाक्रम खोल दिया। वारदात से पूरा जिला स्तब्ध है।