पांच साल से बुजूर्गों की सेवा के लिए वृद्धाश्रम खोलने को घूम रहीं कनक चंद, आश्वासन मिल रहे पर जमीन नहीं। अब मेयर से मिलकर क्या कहा, पढ़िए…

416
खबर शेयर करें -

सौरभ बजाज, न्यूज जंक्शन 24, हल्द्वानी

बाबा नीब करोरी वृद्धआश्रम के निर्माण के लिए संघर्ष कर रहीं जुझारू महिला और तीलू रौतेली पुरस्कार प्राप्त कनक चंद मंगलवार को फिर से मेयर डॉ जोगेंद्र रौतेला से मिलीं और आश्रम को निःशुल्क सरकारी जमीन उपलब्ध कराने के लिए निवेदन पत्र सौंपा। इस दौरान संस्था अध्यक्ष कनक चंद के साथ कार्यालय हेड भावना बिष्ट भी रहीं।

मुलाकात के बाद कनक चंद ने बताया कि विगत 5 वर्षों से प्रशासन व सरकार से निरंतर जमीन की मांग की जा रही है जिसमें उपजिलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री से कई मुलाकातें हई हैं। साथ ही लगातार पत्राचार चलता रहा है, लेकिन अभी तक जमीन संस्था को नही मिल पाई है।

बुजुर्गों की सेवा के लिए दौड़ रहीं समाजसेविका एवं तीलू रौतेली पुरस्कार प्राप्त कनक चंद बताती हैं कि वर्ष 2017 में नगरपालिका अध्यक्ष जोगेंद्र रौतेला को पहला निवेदन पत्र सौंपा था। उम्मीद थी कि बुजुर्गों की सेवा के लिए सरकार एक वृद्धाआश्रम के लिए जमीन उपलब्ध करा देगी। इसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, वर्तमान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह रावत से कई बार वार्ता हो चुकी है। मुख्यमंत्री के स्तर से कार्रवाई का भरोसा भी दिया गया है। शासन स्तर से लगातार पत्राचार भी प्रशासन स्तर से किया जा रहा है। मगर अभी सफलता नहीं मिल सकी है। पांच साल से सरकारी दफ्तरों में घूम रही फाइल के मामले में मंगलवार को वरिष्ठ भाजपा नेता एवं महापौर जोगेंदर पाल सिंह रौतेला से फिर से मिलकर गुहार लगाई है। जिसमें मेयर डॉ रौतेला ने जमीन दिलाने का पूर्ण आश्वासन दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे में पलट गई यात्रियों से भरी बस, क्रैश बैरियर में जाकर अटकी

श्री रौतेला ने कहा की कनक चंद और संस्था, वृद्ध सेवा जैसा नेक कार्य कर रही हैं। सेवाभाव के कारण कनक चंद का समाज मे एक विशेष स्थान है। अपने सामाजिक कार्यो के माध्यम से उन्होंने तीलू रौतेली राज्य पुरस्कार से भी पुरस्कृत किया गया है। कर्तव्यनिष्ठ महिला के सद्कार्यों को बढ़ावा जरूर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  बस और ट्रक की भिड़ंत में 20 छात्र घायल, मुख्यमंत्री ने जाना हाल चाल

समाजसेविका कनक चंद ने जमीन के लिए किए गए पत्राचार के समस्त दस्तावेज मेयर रौतेला को सौपें। कहा कि सरकारी जमीन मिलने पर वह बाबा नीब करोरी महाराज की के नाम से वृद्धआश्रम का निर्माण कर गरीब जरूरतमंद बुजुर्गो की सेवा करेंगीं।

कनक चंद ने खुशी जताई कि मेयर रौतेला ने मदद का भरोसा दिया है।