नक्सलियों ने 700 जवानों को घेरकर की फायरिंग, 22 शहीद, कई लापता

रायपुर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर-सुकमा बॉर्डर पर सीआरपीएफ जवानों को घेरकर नक्सलियों ने हमला कर दिया, जिसमें 22 जवान शहीद हो गए और कई जवान अब भी लापता हैं। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने दो दर्जन से अधिक सुरक्षाकर्मियों के हथियार भी लूट लिए। लापता जवानों की तलाश के लिए आज सुबह से सुरक्षाबल का सर्च अभियान जारी है। सुरक्षा बलों ने लापता 17 जवानों के शव घटनास्थल से बरामद कर लिए हैं। वहीं 31 से अधिक घायल जवानों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस मुठभेड़ में 17 नक्सली भी मारे गए हैं।

सुरक्षाबलों को जोनागुड़ा की पहाड़ियों पर नक्सलियों के डेरा जमाने की सूचना मिली थी। छत्तीसगढ़ के नक्सल विरोधी अभियान के पुलिस उप महानिरीक्षक ओपी पाल ने बताया शुक्रवार की रात बीजापुर और सुकमा जिले से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के कोबरा बटालियन, डीआरजी और एसटीएफ के संयुक्त दल को नक्सल विरोधी अभियान के तहत दो हजार जवानों को रवाना किया गया था। जिसके बाद छत्तीसगढ़ के पामेड, तर्रेम, उसूर, मिनपा, नरसापुर में संयुक्त ऑपरेशन शुरू किया गया था।

शनिवार को दोपहर करीब तीन बजे घात लगाए बैठे करीब 250 से ज्यादा नक्सलियों ने सुकमा-बीजापुर बॉर्डर पर 700 जवानों को तर्रेम इलाके में जोनागुड़ा पहाड़ियों के पास घेरकर तीन ओर से फायरिंग शुरू कर दी। तीन से चार घंटे चली मुठभेड़ में 17 नक्सली ढेर हो गए। सुरक्षा बलों ने घटनास्थल से एक महिला नक्सली का शव बरामद किया है। मुठभेड़ में नक्सलियों को भी काफी नुकसान होने की खबर है। बताया जा रहा है कि नक्सलियों की पीएलजीए बटालियन का नेतृत्व हिडमा नाम का कमांडर कर रहा था। उनकी कई बटालियनों ने मिलकर जवानों पर धावा बोला।

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नक्सली हमलें में जवानों के शहीद होने पर शोक जताया है। पीएम मोदी ने कहा कि जवानों के बलिदान को कभी नहीं भुलाया जाएगा। ट्वीट कर पीएम मोदी ने लिखा,

”मेरी संवेदनाएं छत्तीसगढ़ में शहीद हुए जवानों के परिजनों के साथ है। वीर शहीदों के बलिदान को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना है।”

वहीं, गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट किया,

‘‘मैं छत्तीसगढ़ में माओवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए हमारे वीर सुरक्षाकर्मियों के बलिदान को नमन करता हूं। राष्ट्र उनके शौर्य को कभी नहीं भूलेगा। मैं उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। हम शांति और प्रगति के इन दुश्मनों (नक्सलियों) के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’’

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*