अब कोई विजय माल्या और नीरव मोदी की तरह विदेश नहीं भाग पायेगा, बैंकों ने अपनाई ये तरकीब

नई दिल्ली। अब विजय माल्या और नीरव मोदी की तरह बैंक से कर्ज लेकर कोई विदेश नहीं भाग सकेगा। बैंक ने एक ऐसी तरकीब खोज निकाली है जिससे डिफॉल्टर को एयरपोर्ट पर ही रोक लिया जाएगा। असल में बैंक कर्ज लेने वाले व्यक्ति को हाई सिक्योरिटी टैग वाली पासपोर्ट बुकलेट दी जाएगी। इसी चिप से बैंक डिफॉल्टर की पहचान होगी।

पासपोर्ट विभाग ने इंटरनेशनल सिविल एविएशन संगठन से सहमति ले ली है। जिसके बाद इस योजना पर काम तेजी से शुरू हो गया है। पासपोर्ट में लगी इस चिप में व्यक्ति की पूरी डिटेल होगी कि उसने कब बैंक लोन लिया, चुकाया या नहीं। ई-पासपोर्ट की मैन्यूफैक्चरिंग नासिक में होगी।

बैंक के एक अधिकारी के मुताबिक ई-पासपोर्ट वर्तमान पासपोर्ट की तरह ही होंगे। बस फर्क इतना होगा कि इस पासपोर्ट में चिप लगी होगी, जिसमें पासपोर्ट अधिकारी के डिजिटल सिग्नेचर होंगे। चिप में पासपोर्ट धारक की अंगुलियों के निशान भी होंगे। एयरपोर्ट पर व्यक्ति कब भौतिक सत्यापन किया जायेगा। 100 से अधिक देशों में ई-पासपोर्ट जारी हो रहे हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*