मैरिज ब्यूरो खोलकर सुंदर लड़कियों से मिलवाने के लिए करते थे ठगी, गैंग में कई लड़कियां भी, पुलिस ने ऐसे पकड़ा

न्यूज जंक्शन 24, बरेली।

शादी कराने के नाम पर ठगी का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। आरोपी तलाकशुदा, विधुर और उम्रदराज लोगों को टारगेट कर शादी के नाम पर सौदा करता था। खूबसूरत लड़कियों के फोटो और वीडियो दिखाकर लोगों को झांसे में लेकर उनसे रुपये ऐंठते थे। इसके बाद आरोपी मीटिंग के मौके पर लड़कियों को बदल देते थे। इस वजह से रिश्ता नहीं हो पाता था। दूसरा रिश्ता कराने के नाम पर उनसे और रुपये ऐंठे जाते थे। गैंग लीडर कंपनी के खाते में रुपये जमा कराने के बजाय अपने निजी खाते में रुपये जमा कराता था।

शुक्रवार को डीडीपुरम के आनलाइन मैच प्वाइंट में छापा मारकर पुलिस ने 12 लड़कियां और गैंग लीडर मंजीत बंजारे को गिरफ्तार किया। आरोपी ने बताया कि उसने दिल्ली के राइजिंग रुल कंपनी से फ्रेंचाइजी ले रखी है। जिसको वह बरेली में मैच प्वाइंट के नाम से चला रहा है। इसमें काम करने वाली लड़कियों को बरेली से ही वेतन और कमीशन पर रखा गया है। कंपनी से मिले युवक और युवतियों के डाटा के हिसाब से वह कॉल कर लोगों से बातचीत कर उनके रिश्ते लगवाते हैं। इसके अलावा जिसमें वह उनसे कंपनी द्वारा तय की गई रकम भी खाते में लेते हैं। पुलिस ने कॉल सेंटर से बरामद सारे सामान कोे सील किया है। बारादरी इंस्पेक्टर बारादरी शितांशु शर्मा की ओर से आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

48 मोबाइल, चार कंप्यूटर समेत रिकार्ड फाइल हुई बरामद

आरोपियों के पास से पुलिस को 46 मोबाइल जिसमें 32 कीपेड व 14 मोबाइल टच स्क्रीन, चार कंप्यूटर भी पुलिस को बरामद हुये हैं। पुलिस मोबाइल और कंप्यूटर का डेटा चेक करने में लगी है। इसके अलावा टीम को बिना शादीशुदा लोगों की लिस्ट व उनके कॉल सेंटर के रिकार्ड भी सील किये गये हैं।

धर्म, जाति के लोगों की अलग से बनाई फाइलें

रिकार्ड में लड़कियों और लड़कों के बायोडाटा की फाइल मिली है। जिसमें तलाक शुदा व विधवा की अलग फाइल है। इसके अलावा हर धर्म और उनकी जातियों के लड़के लड़कियों की अलग अलग फाइले मिली हैं।

शादी के लिये होटल में फिक्स कराते थे मीटिंग

आरोपी लड़का लड़की की आपस में बातचीत कराने के दौरान उनको होटल में मिलवाने का भी काम करते थे। जिसमें वह मीडिएटर बनकर होटल में रुम बुक कराकर दोनों को पता देते थे। लड़का लड़की मिलते थे। वहां पर कंपनी का कोई भी सदस्य नहीं जाता था।

पांच हजार रुपये व 10 प्रतिशत कमीशन पर काम करती है लड़कियां

आनलाइन मैच प्वाइंट में काम करने वाली लड़कियां पांच हजार रुपये प्रति माह वेतन और कमीशन पर काम करती थीं। खाते में रकम आने के बाद 10 प्रतिशत कमीशन दिया जाता था।

हर माह दो से ढाई लाख की इनकम

मंजीत बंजारे के अनुसार हर माह उसके पास दो से ढाई लाख रुपये की इनकम हो जाती है। जिसमें लड़कियों का वेतन और कमीशन हटाने के बाद उसको लगभग एक लाख रुपये बच जाते थे। पुलिस ने पूरे कार्यालय को सील कर दिया है।

इस तरह हुआ खुलासा

बदायूं में दातागंज के ब्रहमपुरा गांव के रहने वाले नेत्रपाल ने तीन दिन पहले एसएसपी से मैरिज ब्यूरो की ठगी की शिकायत की थी। उसने बताया कि उसके पास आनलाइन मैच प्वाइंट के नाम से शादी कराने के लिये कॉल आया था। काल करने वाले ने लड़की से मिलवाने और मीडियेटर बनकर उनसे खाते में 20 हजार रुपये डलवाये। इसके बाद भी उसे लड़की से नहीं मिलवाया। इसके बाद उसने फोन कर इसकी शिकायत की तो दूसरी लड़की से मिलवाने के नाम पर कई बार उससे पांच पांच हजार रुपये कर के 60 हजार रुपये ऐंठ लिये। एसएसपी ने इसकी जांच क्राइम ब्रांच को दी। शुक्रवार को क्राइम ब्रांच और बारादरी पुलिस डीडीपुरम स्थित कुष्ठ आश्रम के सामने बने नीतू देवी पुत्री मदनलाल के मकान के ऊपर चल रहे आनलाइन मैच प्वाइंट पर छापा मार दिया। वहां से कॉल सेंटर के मालिक छत्तीसगढ़ में जांजगीर चांपा के नावागढ़ इलाके के कटौद गांव निवासी मंजीत बंजारे को पकड़ लिया। उसके साथ 12 युवतियों को भी हिरासत में लिया गया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*