spot_img

फीस जमा न होने पर स्कूल ने रोकी टीसी और रिजल्ट, कमिश्नर दीपक रावत ने की यह बड़ी कार्रवाई

न्यूज जंक्शन 24, हल्द्वानी : मण्डलायुक्त श्री दीपक रावत ने शनिवार को आयुक्त कैम्प कार्यालय, हल्द्वानी में कुमाऊं मण्डल के फरियादियों की जनता दरबार लगाकर जनसमस्याएं सुनी। जनता दरबार में फरियादियों द्वारा निजी स्कूलों द्वारा रिजल्ट न दिए जाने, पारिवारिक विवाद, अवैध कब्जा, राजस्व, सड़क, विद्युत, रोजगार, पेयजल भूमि, अतिक्रमण,आदि से सम्बन्धित 73 शिकायतें दर्ज हुई। इस अवसर पर मण्डलायुक्त ने मौके पर अधिकारियों को बुलाकर व दूरभाष से वार्ता कर समस्याओं को निस्तारित किया।

द्रोण पब्लिक स्कूल, टनकपुर रोड, हल्द्वानी में अध्ययनरत कक्षा 08 के विद्यार्थी पार्थिक जैसवाल का वार्षिक परीक्षा परिणाम विद्यालय द्वारा आतिथि तक न दिए जाने का मसला जनता दरबार में आया। विद्यार्थी के गार्जियन राजू बेबी ने बताया कि विद्यालय द्वारा बच्चे का परीक्षाफल देने के सम्बन्ध में कहा गया है कि जब तक उनके द्वारा विद्यालय की ट्यूशन शुल्क जमा नहीं कराया जाता है तब तक वार्षिक परीक्षा परिणाम नहीं दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण वे एक साथ शुल्क जमा करने में सक्षम नहीं है तथा विद्यालय द्वारा किश्तों में बच्चे की फीस जमा करने की बात कही गई थी। द्रोण पब्लिक स्कूल आठवीं तक ही है व उन्हें अन्य विद्यालय में कक्षा 09 प्रवेश दिलाने में समस्या आ रही है। मौके पर मण्डलायुक्त ने विद्यालय की प्रधानाचार्य शिवांगी चंद को बुलाकर समस्या का निस्तारण किया।

मण्डलायुक्त ने कहा कि शुल्क के कारण विद्यालय बच्चे के वार्षिक परिणाम पर रोक नहीं लगा सकता। प्रधानाचार्य द्वारा मण्डलायुक्त व अभिभावक को आश्वस्त किया गया कि सोमवार को बच्चे का परीक्षाफल व टीसी दे दी जायेगी।

भोटिया पड़ाव निवासी प्रभजोत कौर ने बताया कि उनके घर के पास विद्युत की तारे झूल रही है, जिसके लिए उनके द्वारा विद्युत विभाग से पोल लगाने की बात कही गई थी। विभाग द्वारा पोल लगाने पर सहमति दी गई थी व क्षेत्र में पोल स्थापित करने आये भी थे किन्तु मौहल्ले में विवाद के कारण पोल स्थापित नहीं हो पाया है। इस सम्बन्ध में मण्डलायुक्त ने जनता दरबार मे उपस्थित सिटी मजिस्ट्रेट को मौके का निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रेषित करने के निर्देश दिए गए।

ट्रांसपोर्ट नगर निवासी अनिता देवी ने बताया कि एक वर्ष पूर्व कोविड से उनके पति की मृत्य हो गई थी, उनके पति पूर्वी तराई वन विभाग में वन दरोगा के पद पर कार्यरत थे। उन्होंने मण्डलायुक्त से मृतक आश्रित कोटे में सेवा से योजित करने की बात कही।

इस सम्बन्ध में मण्डलायुक्त ने तहसीलदार हल्द्वानी को फरियादी अनिता देवी के सेवा से योजित हेतु आवश्यक प्रमाण पत्र उत्तराधिकार, परिवार रजिस्टर व अन्य प्रमाण पत्रों को तैयार कर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!