पूरे उत्तराखंड पर मंडरा रहा बड़ा खतरा, सिंगापुर के भू वैज्ञानिकों ने किया आगाह

507
# warning of big earthquake in Uttarakhand
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून। उत्तराखंड में बड़ा भूकंप आ सकता है (warning of big earthquake in Uttarakhand)। वैज्ञानिकों का कहना है कि पिछले लंबे समय से हिमालय क्षेत्र के इस हिस्से में कोई बड़ा भूकंप नहीं आया है, जिसकी वजह से उत्तर-पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में भूकंपीय ऊर्जा भूगर्भ में इकट्ठा हुई है। हाल में आए कई छोटे-छोटे भूकंप इसी का नतीजा है, मगर इन छोटे भूकंपों से धरती के अंदर भरी ऊर्जा बाहर नहीं निकल सकी है। इसी कारण किसी बड़े भूकंप के आने की आशंका जताई जा रही है।

भूवैज्ञानिक उत्तराखंड को भूकंप के दृष्टिकोण से जोन-5 में बताते रहे हैं। लिहाजा, अब नए दावों ने उत्तराखंड की भूकंप से जुड़े खतरों को लेकर चिंता को और बढ़ा दिया है। बड़ी बात यह है कि अब वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि उत्तराखंड में रिक्टर पैमाने पर 8 से भी ज्यादा का भूकंप आ सकता है।

एशियाई भूकंपीय आयोग सिंगापुर के निदेशक परमेश बनर्जी का कहना है कि क्षेत्र में लंबे समय से भूकंप नहीं आया है। इस वजह से उत्तर पश्चिमी हिमालय रीजन में जितनी भूकंपीय ऊर्जा भूगर्भ में इकट्ठी हुई है, उसकी केवल 3 से 5 फीसदी ऊर्जा ही बाहर निकल पाई है।

उन्होंने कहा कि हिमालय क्षेत्र में पिछले लंबे समय से छोटे भूकंप जरूर आ रहे हैं, लेकिन बड़ा भूकंप नहीं आया है। अगर 1905 में कांगड़ा में आए भूकंप की बात करें तो कुछ भूकंप की तीव्रता 7.8 रिक्टर स्केल पर थी। वहीं नेपाल में आए भूकंप के बाद से उत्तर-पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में कोई बड़ा भूकंप नहीं आया है। हिमालय की टेक्टोनिक प्लेट में होने वाले बदलावों की वजह से यहां झटके लगते रहते हैं। हिमालय के नीचे लगातार हो रही हलचल से धरती पर दबाव बढ़ता है। अब ऐसे में वैज्ञानिक इस बात का दावा जरूर कर रहे हैं कि क्षेत्र में यानी उत्तराखंड रीजन में बड़ा भूकंप आ सकता है (warning of big earthquake in Uttarakhand), लेकिन कब आएगा यह तय नहीं है।

से ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।