spot_img

कल से बदल रहे हैं ये नियम, आपकी आर्थिक स्थिति पर डालेगा बड़ा असर, यहां जानिए क्या हो रहा बदलाव

नई दिल्ली। कल नया महीना शुरू होते ही आपको कई नए नियमों को सामना करना पड़ेगा। इसमें से कई नियम आपकी जेब पर बोझ बढ़ाएंगे तो कई आपको सहूलियत भी देंगे। क्योंकि एक अगस्त से भारत में रुपये- पैसे से जुड़े कई बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। इसलिए इनके बारे में जानना आपके लिए बेहद आवश्यक है । इन बदलावों में रसोई गैस सिलिंडर के दाम, एटीएम से पैसे निकालने के चार्ज, इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB)की डोर स्टेप बैंकिंग सुविधा, आईसीआईसीआई बैंक के ग्राहकों के लिए नकद लेनदेन सहित अन्य नियम और आरबीआई द्वारा बदले गए नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (NACH)के नियम शामिल हैं ।

बैंक में छुट्टी होने पर भी खाते में जमा होगी सैलरी

एक अगस्त से नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (NACH)हर दिन उपलब्ध होगा। इसकी घोषणा आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने की थी। पहले यह सेवा बैंकों के सभी कार्य दिवसों को उपलब्ध रहती थी। NACH एक ऐसी बैंकिंग सुविधा है, जिसके जरिए कंपनियां और आम आदमी हर महीने के जरूरी लेनदेन को आसानी से करते हैं। अब एक अगस्त से यह सुविधा सप्ताह के सभी दिनों में उपलब्ध होगी। मौजूदा समय में ज्यादातर कंपनियां अपने कर्मचारियों के खाते में सैलरी डालने के लिए इसका इस्तेमाल करती हैं, जिससे बैंक में छुट्टी के दिन आपके खाते में सैलरी नहीं आती है। लेकिन अब छुट्टी के दिन भी आपके खाते में सैलरी और पेंशन की राशि जमा हो जाएगी। साथ ही ईएमआई, म्युचुअल फंड, टेलीफोन सहित सभी बिलों का भुगतान भी भुगतान किया जा सकेगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की डोर स्टेप बैंकिंग के लिए देना होगा शुल्क 

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB)भारत सरकार के डाक विभाग और संचार मंत्रालय के अधीन एक सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक है। अगस्त से आपको इसकी डोर स्टेप बैंकिंग सुविधा का लाभ उठाने के लिए शुल्क देना होगा। अब प्रत्येक बार डोर स्टेप बैंकिंग सुविधा के लिए ग्राहकों को 20 रुपये के साथ जीएसटी का भुगतान करना होगा। जबकि इससे पहले तक यह सुविधा बिल्कुल मुफ्त थी। विभिन्न प्रकार की सेवाओं के लिए बैंक प्रति सेवा 20 रुपये और जीएसटी वसूलेगा। ग्राहक को पैसे ट्रांसफर करने और मोबाइल पेमेंट आदि के लिए भी 20 रुपये के साथ जीएसटी का भुगतान करना होगा।

ATM से पैसे निकालने पर देना होगा ज्यादा चार्ज

आरबीआई ने एक अगस्त से बैंकों को वित्तीय लेनदेन के लिए प्रति लेनदेन इंटरचेंज शुल्क 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये और सभी केंद्रों में गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए यह शुल्क पांच रुपये से बढ़ाकर छह रुपये करने की अनुमति दी है। आरबीआई ने कहा है कि एटीएम लगाने और उसके मेंटनेंस के खर्च में बढ़ोतरी की वजह से शुल्क बढ़ाया गया है। अगर किसी एक बैंक का ग्राहक किसी अन्य बैंक के एटीएम से अपने कार्ड का इस्तेमाल कर पैसे निकालता है, तो ऐसी स्थिति में जिस बैंक के एटीएम से पैसे निकाले जाते हैं, वह मर्चेंट बैंक हो जाता है। ऐसे में आपके बैंक को मर्चेंट बैंक को एक निश्चित शुल्क का भुगतान करना होता है, जिसे एटीएम इंटरचेंज शुल्क कहा जाता है। इंटरचेंज शुल्क दूसरे बैंक के एटीएम से एक सीमा के बाद निकासी करने पर लगाया जाता है।

गैस सिलिंडर के दाम

तेल कंपनियां हर महीने एलपीजी सिलिंडर के दामों की समीक्षा करती हैं। हर राज्य में टैक्स अलग-अलग होता है और इसके हिसाब से एलपीजी के दामों में अंतर होता है। अगस्त से घरेलू रसो गैस सिलिंडर का दाम बदल जाएगा। जुलाई में तेल कंपनियों ने 14.2 किलोग्राम वाले एलपीजी रसोई गैस सिलिंडर की कीमतों में 25.50 रुपये का इजाफा किया था। वहीं 19 किलोग्राम के सिलिंडर में 76 रुपये का इजाफा किया गया था। मई और जून में घरेलू सिलिंडर के दाम में कोई बदलाव नहीं किया गया था। अप्रैल में एलपीजी सिलिंडर के दाम में 10 रुपये की कटौती की थी।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!