पेपर लीक मामला : यूपी से RIMS कंपनी का मालिक व उसका कर्मचारी गिरफ्तार, आयोग में घुसकर पेन ड्राइव से चोरी किया था प्रश्नपत्र

183
# (RMS Techno Solution )
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग यूकेएसएसएससी पेपर लीक में मामले में (uksssc Paper leak case) एसटीएफ ने दो और गिरफ्तारियां की हैं। पुलिस ने पहले लखनऊ से आरआईएमएस कंपनी के मालिक राजेश चौहान को गिरफ्तार कर लिया है। ये इस मामले में 25वीं गिरफ्तारी थी। इसके बाद उत्तर प्रदेश के ही बाराबंकी से प्रदीप पाल को भी गिरफ्तार किया है।

एसटीएफ ने पुलिस मुख्यालय से प्राप्त जांच के क्रम में सचिवालय रक्षक भर्ती मामले में थाना रायपुर में मुकदमा दर्ज कराया था। एसटीएफ की टेक्निकल टीम द्वारा आयोग में गहन जांच के बाद यूकेएसएसएससी पेपर लीक (Paper leak case) में इलेक्ट्रॉनिक एविडेंस को पाने में सफलता प्राप्त की है। आरोपी प्रदीप पाल निवासी बाराबंकी उत्तर प्रदेश को साक्ष्य व गहन पूछताछ के बाद एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रदीप पाल भी आरआईएमएस कंपनी का कर्मचारी था। वह आयोग में भी लंबे समय से कार्यरत था, उसने ही पेन ड्राइव के माध्यम से प्रश्न पत्र चुराया और अन्य साथियों की मदद से परीक्षार्थियों को लाखों रुपए में बेचा था।

एसटीएफ (uksssc Paper leak case) ने इसके साथ ही एलान और अपील भी जारी की है। एसटीएफ ने कहा है कि जो छात्र सचिवालय रक्षक परीक्षा में अनुचित साधन से उत्तीर्ण हुए हैं, उनको चिन्हित कर लिया गया है। एसटीएफ ने साथ ही अपील की है कि ऐसे अभ्यर्थी अपने बयान खुद आकर दर्ज करा लेंगे तो उन पर विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

से ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।