जमीन का विवाद निपटाने पहुंचे दरोगा जी ने पीड़िता से की अश्लीलता, विरोध करने पर कर डाला यह हाल

184
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, नवाबगंज (बरेली)

पड़ोसी से रास्ते के निकास को लेकर हुए विवाद में थाने के दो दरोगा एक महिला के घर पहुंच कर उससे मदद करने की बात कह उसे अपने कमरे पर बुलाने लगे। दरोगाओं ने महिला से अश्लील हरकतें की। महिला ने मनमानी का विरोध किया तो दोनों दरोगा उसके नाबालिग बेटे को पकड़ कर थाने ले गए। जहां उसकी जमकर पिटाई करने के बाद उसे हथकड़ी में जकड़ हवालात में डाल दिया। महिला ने मामले की शिकायत एडीजी से की तो शनिवार को एसपी ग्रामीण महिला के घर जांच पड़ताल को पहुंचे। लेकिन महिला के बेहोश होने के कारण वह जांच नहीं कर पाए।
यह दिलचस्प मामला हाफिजगंज गांव का है। जहां की एक विधवा का उसके पड़ोस के ही एक व्यक्ति से रास्ते के निकास को लेकर विवाद चल रहा है। जिसकी उसने दो दिन पूर्व पुलिस से शिकायत की थी। विधवा का आरोप है कि शुक्रवार को थाने के दो दरोगा उसके घर आए और उससे ममद करने की बात कह अपने कमरे पर बुलाने लगे। जिसका विरोध करते हुए विधवा ने उनसे कहा कि वह उनके हल्के के दरोगा नहीं हैं। वह उसकी मदद कैसे कर सकते हैं। उसकी बात सुन वह उससे अश्लील हरकतें करने लगे। जिसका उसने विरोध किया तो वह उसके नाबालिग बेटे को पकड़ कर थाने ले गए और थाने में उसकी जमकर पिटाई करने के बाद उसे हवालात में डाल दिया। बाद में उन्होंने उसके बेटे को छोड़ दिया।
इससे नाराज विधवा ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री पोर्टल व एडीजी से मामले की शिकायत की। जिसपर शनिवार को एसपी देहात विधवा के घर जांच को पहुंचे। लेकिन उसके बेहोश होने के कारण वह जांच नहीं कर सके।

पुलिस देख बेहोश हो गयी विधवा
महिला से छेड़छाड़ करने के आरोपी दरोगाओं को जब एसपी ग्रामीण के जांच को आने की सूचना मिली तो वह उसके घर पहुंच गए और उससे मना कर समझौते का प्रयास करने लगे। इसी बीच एसपी ग्रामीण पुलिस फोर्स के साथ वहां पहुंचे तो पुलिस को देख कर वह बेहोश हो गयी।

मामले की जांच करने के लिए मैं गया था। महिला के बीमार होने के कारण उससे बात नहीं हो सकी है। दरोगाओं के बयान दर्ज किए हैं। उन्होंने बताया है कि उनका इस मामले से कोई लेने देना नहीं है। महिला से बात होने के बाद आगे कार्रवाई की जाएगी।
-डा. संसार सिंह एसपी ग्रामीण।