उत्तराखंड में यह स्कूल आज से एक हफ्ते के लिए बंद, प्रशासन ने लगाए ये भी प्रतिबंध, जानें वजह

403
# All schools in Haridwar and Rishikesh closed for a week
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून। कांवड़ मेले के मद्देनजर हरिद्वार और ऋषिकेश के सभी सरकारी और निजी स्कूलों समेत आंगनबाड़ी केंद्रों को 20 जुलाई से 26 जुलाई तक बंद कर दिया गया है (All schools in Haridwar and Rishikesh closed for a week)। हरिद्वार के जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे ने कांवड़ मेले के जोरों पर रहने, शांति व्यवस्था बनाए रखने और विद्यार्थियों की सुरक्षा को देखते हुए ये फैसला लिया है। तो वहीं, देहरादून की जिलाधिकारी सोनिका सिंह ने ऋषिकेश क्षेत्र में पढ़ने वाले सभी स्कूलों को 7 दिन के लिए बंद करने का आदेश दिया है।

कांवड़ मेले को देखते हुए हरिद्वार जनपद के निजी स्कूलों में सोमवार से ही ऑनलाइन शिक्षण कार्य शुरू कर दिया गया है। लेकिन सरकारी स्कूलों में अभी तक कोई तैयारी शुरू नहीं की गई है। इससे सरकारी स्कूलों के बच्चों की पढ़ाई कांवड़ यात्रा के बाद ही शुरू हो पाएगी (All schools in Haridwar and Rishikesh closed for a week)।

कांवड़ यात्रा मार्ग पर प्रतिबंधित रहेंगी ये चीजें

हरिद्वार के डीएम विनय शंकर पांडे ने आदेश जारी कर कांवड़ यात्रा मार्ग पर मांस-मछली, अंडे की दुकानें भी 26 जुलाई तक बंद रखने का आदेश जारी किया है। उन्होंने कहा है कि हालांकि, शराब की बिक्री पर रोक नहीं है, मगर मार्ग पर पड़ने वाली शराब की दुकानों का फ्रंट टीनशेड या तिरपाल से कवर रहेगा। डीएम ने पुलिस को आदेश का सख्ती से लागू करने के निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने अपने आदेश में कहा है कि सावन माह की शिवरात्रि को लेकर 26 जुलाई तक शिव भक्त कांवड़ियों का सैलाब उमड़ेगा। हरिद्वार मेला क्षेत्र ड्राई एरिया है, यहां मांस-मछली और अंडा नहीं बिकता है लेकिन मेला क्षेत्र से बाहर शराब और मांस-मछली और अंडे की दुकाने हैं। ऐसे शराब की दुकानों के फ्रंट टीनशेड से कवर रहेंगे। वहीं, पुलिस अधीक्षक नगर स्वतंत्र कुमार सिंह ने बताया कि प्रतिबंध का उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

से ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।