spot_img

UKSSSC पेपर लीक मामले में एक और चौंकाने वाला खुलासा, एसटीएफ के साथ ही आयोग के अफसरों के भी उड़े होश

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की स्नातक स्तरीय परीक्षा के पेपर लीक मामले की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे कई नई बातें सामने आ रही हैं। अब तक इस मामले में 13 लोगों की गिरफ्तारी के बाद अब यह खुलासा हुआ है कि तीन पालियों में हुई इस परीक्षा की सभी तीन पालियों के पेपर लीक हुए थे (shocking revelation in the UKSSSC paper leak case)।

यहीं नहीं, पेपर शुरू होने से पहले रात में ही इसके 63 सवालों के जवाब ट्वायलेट पेपर पर लिखकर वायरल कर दिए गए थे। आयोग के पास भी ऐसे ही ट्वायलेट पेपर पर लिखे जवाबों के तीन स्क्रीनशॉट मिले थे। जिसका मिलान करने पर अधिकारी हैरान रह गए थे। यह स्क्रीन शॉट तड़के 3 बजकर 58 मिनट पर लिए गए थे। ऐसे में शक की सुई अब आयोग के कर्मचारी और अधिकारियों पर ही घूमने लगी है। एसटीएफ के मुताबिक, अब तीन पालियों में परीक्षा देने वाले करीब डेढ़ लाख अभ्यर्थी जांच के दायरे में हैं।

दो दिन पहले आयोग के चेयरमैन पद से इस्तीफा देने वाले एस राजू ने बताया कि चार दिसंबर और पांच दिसंबर को आयोग की स्नातक स्तरीय परीक्षा हुई। चार दिसंबर को सुबह दस बजे से पहली पाली की परीक्षा होनी थी। इसी दिन सुबह तीन बजकर 58 मिनट का जवाब लिखे टॉयलेट पेपर का स्क्रीनशॉट परीक्षा के कुछ दिनों बाद आयोग के पास पहुंचा। आयोग के अध्यक्ष एस राजू ने इसका संज्ञान लिया और इस पर लिखे गए 63 सवालों के जवाब का मिलान किया। सभी जवाब बिल्कुल सही थे।

यह देखकर आयोग के अधिकारी भी हतप्रभ रह गए (shocking revelation in the UKSSSC paper leak case)। आयोग के निवर्तमान अध्यक्ष एस राजू का कहना है कि टॉयलेट पेपर के तीन स्क्रीनशॉट उन्होंने पुलिस को उपलब्ध कराए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अगर यह सॉल्यूशन वास्तव में सुबह तीन बजकर 58 मिनट का है तो पेपर के बड़े स्तर पर लीक होने की भी आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है।

से ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!