चीन को महंगा पड़ा “भारतीय डिजिटल झटका, चीन ने कहा भारत से बात करेंगे, इस प्रतिबंध को हटाने के लिए

बता दें कि, सोमवार को भारत सरकार ने चीन को बड़ा झटका देते हुए टिक-टॉक समेत 59 चीनी एप्स को प्रतिबंधित कर दिया था। हेलो और कैम स्कैनर पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया। भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के बाद से ही टिक-टॉक एप को बैन करने की मांग की जा रही थी। यूसी ब्राउजर, शेयर इट जैसे और भी बहुत से चर्चित एप्स को प्रतिबंधित कर दिया गया।
भारत के इस कदम के बाद मंगलवार को नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास ने प्रतिक्रिया दी और इस फैसले को भेदभाव भरा करार देते हुए गलत बताया।
भारत में चीनी दूतावास की प्रवक्ता जी रोंग ने कहा है कि कुछ निश्चित चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगाने का भारत का फैसला भेदभाव से परिपूर्ण और अस्पष्ट है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार का यह निर्णय निष्पक्ष और पारदर्शी प्रक्रियाओं के खिलाफ है और राष्ट्रीय सुरक्षा अपवादों का दुरुपयोग करता है। रोंग ने इस फैसले को विश्व व्यापार नियमों के खिलाफ भी बताया।

उन्हों कहा कि उपभोक्ता हितों और भारत में बाजार की प्रतिस्पर्धा को देखते हुए यह निर्णय उचित नहीं है। यह कदम अंतरराष्ट्रीय व्यापार और ई-कॉमर्स की सामान्य प्रवृत्ति के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि चीन भारत सरकार के इस कदम का मजबूती से विरोध करेगा और साथ ही हम भारत से अपील करेंगे कि वह अपना भेदभाव भरा व्यवहार बदले

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*