उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की सुपारी देने वाले चार गिरफ्तार, हुआ ये खुलासा

198
खबर शेयर करें -

न्यूज जंक्शन 24, सितारगंज : कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की सुपारी देकर हत्या की साजिश रचने वाले चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनमें एक खनन माफिया है, जो मुख्य साजिशकर्ता बताया जा रहा है। उसी के इशार पर शूटर मुहैया कराने की योजना बनाने वाले से पुलिस ने सुपारी के 2.70 लाख रुपये भी बरामद बरामद किए हैं। माफिया खनन का अवैध कारोबार बंद होने, गेंहू चोरी में जेल जाने के लिए कैबिनेट मंत्री को जिम्मेदार मानता था। इस कारण आरोपित ने हत्या की योजना बना डाली पुलिस को संदेह है कि मुख्य आरोपित के षडयंत्र, सम्पर्क में अन्य लोग भी शामिल हो सकते है।

सितारंगज में बाईपास कालोनी निवासी उमाशंकर द्विवेदी पुत्र मुन्नीलाल ने रविवार की शाम पुलिस को सूचना दी कि हीरा सिंह निवासी सिडकुल रोड कोटाबाग, सतनाम सिंह उर्फ सत्ता, हरभजन सिंह, मोहम्मद अजीज ने कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा को मारने की योजना बनाई है। चारों आरोपित यूपी के शूटरों से कैबिनेट मंत्री की हत्या कराना चाहते है। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच पड़ताल के बाद चारों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

सोमवार को सीओ ओमप्रकाश ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि हीरा सिंह का अवैध खनन का धंधा बंद हो गया था। गेहूं चोरी के मामले में हीरा सिंह हीरा सिंह जेल गया था। तब से आरोपित कैबिनेट मंत्री को इन दोनों वजह के पीछे जिम्मेदार मानकर चल रहा था। उसने ही जेल में सतनाम सिंह उर्फ सत्ता से बात कर योजना बनाई सतनाम सिंह ने हीरा सिंह को हरभजन सिंह से मिलवाया। हरभजन सिंह ने अजीज उर्फ गुड्उू से मुलाकात कराई अजीज ने कैबिनेट मंत्री को मरवाने के लिए 20 लाख की सुपारी मांगी। हीरा ने अजीज को 5.70 लाख रुपए दिए। जिसके बाद हीरा सिंह ने कैबिनेट मंत्री की सभाओं में जाकर रेकी करनी शुरु कर दी।

पुलिस ने प्रकरण में मुख्य आरोपित हीरा सिंह, अजीज, सतनाम सिंह व हरभजन सिंह को गिरफ्तार कर लिया। अजीज के कब्जे से सुपारी के 2.70 लाख रुपए बरामद हुए हैं। जबकि हीरा सिंह के पास से पुलिस ने स्विफ्ट कार बरामद की है। टीम में एसएसआइ विनाो फत्र्याल, एसआइ कविंद्र शर्मा, एसआइ चंदन सिंह बिष्ट, नरेंद्र यादव, कपिल कुमार, भारत भूषण, भूपेंद्र आर्य मौजूद रहे।