spot_img

दुष्कर्म के दोषी पूर्व मंत्री को हुई उम्रकैद तो बिगड़ी तबीयत, डाक्टरों ने कहा…

न्यूज जंक्शन 24, लखनऊ। दुष्कर्म के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद उम्रकैद की सजा पाए पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति (Gayatri prasad Prajapati) की तबीयत बिगड़ गई है। उसे शुक्रवार को सजा सुनाई गई थी। कोर्ट के निर्णय से प्रजापति (Gayatri prasad Prajapati) को सदमा लगा और रात भर वह जेल में सो नहीं सका। शनिवार सुबह डाक्टरों के पैनल ने उसकी जांच की।

केजीएमयू के सीएमएस प्रो. एसएन शंखवार ने बताया कि उनका इलाज पहले केजीएमयू से चल रहा था। यदि जेल प्रशासन की ओर से यहां भर्ती करने संबंधित पत्र आएगा तो पैनल बनाकर उनकी जांच की जाएगी। चिकित्सकों का पैनल ही उनका इलाज करेगा।

कोर्ट ने कल सुनाई थी सजा

चित्रकूट के चर्चित गैंगरेप मामले में एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट ने पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति (Gayatri prasad Prajapati) को शुक्रवार को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। प्रजापति के साथ ही मामले में दोषी आशीष शुक्ला और अशोक तिवारी को भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। उम्रकैद की सजा के साथ ही तीनों दोषियों पर 2-2 लाख रुपये का आर्थिक जुर्माना भी लगाया गया था। इससे पहले बुधवार को कोर्ट ने प्रजापति (Gayatri prasad Prajapati) समेत आशीष और अशोक को दोषी करार दिया था और सजा पर फैसला सुरक्षित रखते हुए अगली तारीख शुक्रवार की दी थी। वहीं दूसरी तरफ विकास वर्मा, रूपेश्वर, अमरेंद्र सिंह, पिंटू और चंद्रपाल को कोर्ट ने बरी कर दिया था।

गौरतलब है कि इससे पहले कोर्ट ने गायत्री प्रजापति (Gayatri prasad Prajapati) समेत अन्य आरोपियों को मौखिक साक्ष्य देने का अवसर 2 नवंबर को खत्म कर दिया था। पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति की तरफ से मंगलवार को ही मामले में अर्जी लगाकर मुकदमे की तारीख आगे बढ़ाए जाने की मांग की गई थी। इसमें कहा गया था कि इस मुकदमे को किसी दूसरे राज्य में ट्रांसफर करने की मांग को लेकर उनकी ओर से सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दाखिल की गई है, इसी के साथ एमपी एमएलए कोर्ट के उस आदेश को इलाहाबाद हाईकोर्ट लखनऊ बेंच में चुनौती दी गई है जिसमें उसके बचाव के सबूत पेश करने की अर्जी को खारिज कर दिया गया था।

ऐसे ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles