spot_img

एक मैच में मिली हार और घर आकर गोल्डमेडलिस्ट बॉक्सिंग खिलाड़ी ने दे दी जान

हल्द्वानी। बॉक्सिंग खिलाड़ी हेमलता दानू ने अज्ञात कारणों के चलते जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली है। वह हल्द्वानी के एमबीपीजी कॉलेज से एमए की पढ़ाई भी कर रही थी। हेमलता ने जहर क्यों खाया, इसका कुछ पता नहीं चल सका है। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।

मूलरूप से बागेश्वर जिले के कपकोट में रहने वाली 20 वर्षीय हेमलता दानू उर्फ हेमा दानू हल्द्वानी के छड़ायल में अपने मामा के साथ रहती थी। वह एमबीपीजी कॉलेज में एमए द्वितीय समेस्टर की छात्रा होने के साथ ही बाक्सिंग की बेहतरीन खिलाड़ी भी थी अौर कई प्रतियोगिताओं में मेडल जीत चुकी थी। बताया जा रहा है कि 10 सितंबर को हेमा ने राज्य स्तरीय बाक्सिंग चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था, जहां उसका मुकाबला उत्तराखंड पुलिस टीम से हुआ और वह मैच हार गई थी, इसके बाद हेमा घर आ गई थी।

11 सितंबर की देर शाम हेमा ने जहर गटक लिया, जिसके बाद परिजनों ने उसे आनन-फानन में अस्पताल पहुंचाया, जहां हालत गंभीर होने के बाद परिजनों ने काठगोदाम स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई। काठगोदाम थाना प्रभारी विमल मिश्रा ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, मौत का कारण का पता लगाया जा रहा है।

जीते थे कई गोल्ड और रजत पदक

एसओ काठगोदाम विमल मिश्रा के अनुसार, आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। हेमा एक होनहार खिलाड़ी थी। 2016 में कोटद्वार में आयोजित राज्य स्तरीय मैच में गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया था। वही 2018 में हेमा ने हरियाणा में आयोजित राष्ट्रीय स्तर के मैच में रजत पदक जीता था। उसने द्वितीय यूथ नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था। बालिका वर्ग के 57 किग्रा भारवर्ग में हरियाणा की शिवानी ने तीन राउंड तक चले मुकाबले में पराजित किया। होनहार खिलाड़ी का अचानक आत्महत्या करना किसी को समझ नहीं आ रहा है। फिलहाल पुलिस मौत के कारणों की जांच कर रही है।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!