हल्द्वानी में हत्याकांड : पत्नी के वाट्सएप पर मैसेज देखे और उसके बाद कर डाली अमित की हत्या

 

हल्द्वानी। काठगोदाम क्षेत्र के चांदमारी में ढाबा संचालक अमित कुमार की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। हत्याकांड के खुलासे को पुलिस को खासी मेहनत करनी पड़ी। पुलिस के मुताबिक अमित के पुराने पार्टनर ने हत्या की।
मालूम हो कि 24 दिसंबर को अमित कुमार की हत्या कर दी गई थी। काठगोदाम के चांदमारी इलाके में रहने वाला अमित कुमार सलडी के पास एक ढाबा चलाता था। 10 साल पहले उसने अपने पास में ही रहने वाली एक युवती से लव मैरिज की और उनकी एक साथ साल की बेटी भी है। कुछ महीने पहले अमित की पत्नी उसे छोड़कर मायके चली गई। यही नहीं उसने दहेज उत्पीड़न का मुकदमा भी अमित और उसके परिवार जनों के खिलाफ लिखाया। इस बीच 24 दिसंबर की शाम को किसी ने अमित की छाती पर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। शांत इलाके में इस हत्याकांड की खबर लगते ही हड़कंप मच गया। एसएसपी सहित पूरा पुलिस अमला मौके पर पहुंचा और छानबीन में जुट गया। अमित हत्याकांड के पीछे क्या वजह थी इसको लेकर पुलिस पूरी गहनता से जांच में जुट गई।
इस बीच अमित के परिजनों ने अमित के ससुरालियों पर हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया, लेकिन पुलिस पूछताछ में कोई भी बात निकल कर सामने नहीं आई। पुलिस ने आसपास के सारे सीसीटीवी भी खंगाल लिए। इस दौरान पुलिस को कोई लीड नहीं मिल रही थी। पुलिस सस्पेक्ट की तलाश में कई लोगों से पूछताछ करने के बाद भी जब सुराग नहीं लगा पाई।
उसके बाद पुलिस ने अमित का बैकग्राउंड तलाशा, अमित और उसके करीबियों के मोबाइल नंबर टेक्निकल टीम द्वारा सर्विलेंस में लगाए गए। इस दौरान पुलिस को एक लीड मिली जिसके बाद पुलिस ने अमित हत्याकांड के मौत के राज से पर्दा उठाया। घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि काली चौड़ सुल्तान नगरी निवासी हरीश चंद्र पंत द्वारा इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया है। अभियुक्त से घटना में प्रयुक्त 315 बोर का तमंचा और एक खोखा कारतूस बरामद किया गया है।
अभियुक्त ने बताया कि वह अमित के परिवार के साथ पूर्व में होटल व्यवसाय करता था। व्यवसाय के बीच दोनों में आपसी मनमुटाव और रंजिश भी हो गई थी। इस घटना से कुछ समय पहले हरीश ने अपनी पत्नी के मोबाइल में अमित के व्हाट्सएप मैसेज देखे थे और अपनी पत्नी को समझाया भी था। जिसके बाद हरीश ने अमित की हत्या का प्लान बनाया। यही नहीं दो तीन बार पहले भी वह अमित के होटल के पास मास्क पहनकर इसे मारने के लिए गया, लेकिन वहां पर अन्य लोग थे और उसके पास बंदूक में एक ही गोली थी। इसलिए वह वापस लौट आया। जिसके बाद फिर से उसने रेकी की घटना के दिन आरोपी हरीश ने शराब पी और उसके बाद अपनी बाइक को कैनाल रोड पर खड़ी कर अमित की गली में चला गया। जैसे ही अमित वहां आया और मौका देखकर गोली मार कर भाग गया।
आरोपी ने बताया कि वह इसके अलावा दूसरे दिन मृतक के घर पर गया था और शव आने से पहले श्मशान घाट भी चला गया ताकि मुझ पर कोई शक ना करें। लेकिन पुलिस ने गहनता से छानबीन करते हुए आखिरकार आरोपी को हिरासत में लेकर गिरफ्तार कर लिया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*