ऑनलाइन पढ़ाई बनी अभिभावकों के लिए सिरदर्द, रात 12 बजे होमवर्क भेज रहे स्कूल

165
खबर शेयर करें -

एनजेआर, बरेली। ऑनलाइन एजुकेशन का सही तरह से ना होना छात्रों और अभिभावकों के लिए मुसीबत बन गई है। कई स्कूल के शिक्षक रात 12 बजे तक होमवर्क भेज रहे हैं। इससे अभिभावक बेहद खफा हैं। उन्होंने ऑनलाइन एजुकेशन में समय का विशेष ध्यान रखने की मांग की है।

कोरोना के कारण इस बार स्कूल नहीं खुल पाए। स्कूल ऑनलाइन एजुकेशन के माध्यम से ही पढ़ाई करवा रहे हैं। सरकार की तरफ से ऑनलाइन कक्षाओं को लेकर एडवाइजरी जारी हो चुकी है। इसके बाद भी कई स्कूल उस एडवाइजरी का पालन नहीं कर रहे हैं। गुलाब नगर की पूजा ने बताया कि उनका बेटा कक्षा एक में पढ़ता है। उसके स्कूल से कभी रात 12 बजे तो कभी एक बजे होमवर्क आता है। इससे उन्हें काफी परेशानी होती है। चाहवाई के विष्णु कुमार ने कहा कि कक्षा 5 तक के बच्चों की ऑनलाइन एजुकेशन होनी ही नहीं चाहिए। फीस के लालच में प्री प्राइमरी तक के बच्चों की ऑनलाइन कक्षाएं लगाई जा रही हैं। दिनभर माता-पिता ही कक्षाएं लेते रहते हैं और जैसे-तैसे कर होमवर्क पूरा किया जाता है। एक-एक दिन में दस-दस पेज का होमवर्क दे दिया जाता है।

स्कूल में कर सकते हैं शिकायत

इंडिपेंडेंट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष पारुष अरोड़ा ने कहा कि सभी स्कूलों को निश्चित समय में ही ऑनलाइन कक्षाओं के संचालन की बात कही गई है। अधिकांश स्कूल इसका पालन भी कर रहे हैं। यदि कोई शिक्षक समय से होमवर्क नहीं भेज रहा है तो स्कूल में शिकायत करनी चाहिए।