spot_img

पिज्जा डिलीवरी की जॉब गई तो शुरू किया चोरी व लूटपाट करना और व्यापारियों से मांगी रंगदारी

रांची में रहने वाले एक युवक की लॉकडाउन में पिज़्ज़ा डिलीवरी ब्वॉय की नौकरी चली जाने पर उसने चोरी लूटपाट और व्यापारियों को धमकी देकर रंगदारी का काम शुरू किया, उसने कई व्यापारियों को धमकाकर रंगदारी मांगी। बरियातू पुलिस ने मोबाइल की लोकेशन के आधार पर उस को गिरफ्तार कर लिया है।
आरोपी में पीएलएफआई से जुड़ा था। उसका नाम नीरज ठाकुर है। उसने दवा दुकानदार सचिन कुमार से 13 लाख रुपए रंगदारी मांगी। एक ट्रांसपोर्टर को धमकाकर 20 लाख रुपए की मांगे थे।
नीरज ने बताया कि लॉक डाउन लगने से पहले वह एक कम्पनी में पिज्जा डिलीवरी करता था । लेकिन 25 मार्च के बाद ऑर्डर आने बन्द हुए, तो उसे नौकरी से निकाल दिया गया। उसे खर्चे चलाने मुश्किल हो गए। किसी ने उसकी मदद भी नहीं की। इसी बीच संदीप नाम के युवक से वह मिला। संदीप पीएलएफआई के लिए काम करता है। संदीप ने नीरज को भी अपने गिरोह में मिला लिया। संदीप गुमला में तो नीरज बुढ़मू थाना क्षेत्र में रहता है। नीरज के पकड़ने के बाद संदीप फरार हो गया। उग्रवादी संगठन का संदीप एरिया कमांडर है। उसके खिलाफ रांची में कइयों केस दर्ज हैं।

उसको नौकरी से निकालने वालों से ही रंगदारी मांगी

नीरज लॉक डाउन से पहले रांची में रहकर जॉब करता था। उसने हेल्थ प्वाइंट अस्पताल में दवा दुकानदार सचिन कुमार के यहां नौकरी कर रखी थी। सचिन ने उसे नौकरी से हटा दिया। इससे नाराज नीरज ने रात को दुकान में लूटपाट की। वहां से नौकरी से निकाले जाने के बाद नीरज ट्रांसपोर्टर सचिन के यहां काम करने लगा। ट्रांसपोर्टर ने भी उसे नौकरी से निकाल दिया। उसका पैसा भी नहीं दिया। इन्हीं दोनों से नीरज ने रंगदारी मांगी।

संदीप ने नीरज को दिया था सिम कार्ड

संदीप ने नीरज को रंगदारी मांगने के लिए काल करने के लिए एक सिम कार्ड दिया था। संदीप ने कहा कि यह काफी चर्चित नंबर है। इस नंबर से फोन करने पर सामने वाला समझ जाएगा कि फोन कहां से आया है। रुपये मिलने में आसानी होगी।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!