spot_img

पिथौरागढ़ की शीतल को देश करेगा सलाम, सबसे कम उम्र में राष्ट्रपति से लेंगी यह अवार्ड

न्यूज जंक्शन 24, हल्द्वानी । सबसे कम उम्र में विश्व की सबसे ऊंची पर्वतचोटी एवरेस्ट फतह करने वाली शीतल राज (Sheetal Raj) के साहस को अब पूरा देश सलाम करेगा। उन्हें तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड 2021 से नवाजा जाएगा। 13 नवंबर को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शीतल को यह अवार्ड प्रदान करेंगे।

पिथौरागढ़ जिले के सल्लोड़ा गांव निवासी 25 वर्षीय शीतल (Sheetal Raj) कुमाऊं मंडल विकास निगम के साहसिक पर्यटन अनुभाग में कार्यरत हैं। वर्ष 2018 में शीतल ने 8586 मीटर ऊंची माउंट कंचनजंगा चोटी फतह की थी। इसके बाद वर्ष 2019 में उन्होंने माउंट एवरेस्ट फतह कर लिया। यह सफलता हासिल करने वाली शीतल राज (Sheetal Raj) सबसे कम उम्र की पर्वतारोही हैं। शीतल के साहस का सफर यहीं नहीं रुका। उन्होंने 7075 मीटर ऊंची सतोपंत, 7120 मीटर ऊंची त्रिशूल समेत कई चोटियां भी फतह कर ली हैं। 15 अगस्त 2021 में उन्होंने यूरोप की सबसे ऊंची पर्वतचोटी एल्बुरस चोटी पर भीभारतीय झंडा फहरा दिया।

तीलू रौतेली पुरस्कार हासिल करने वाली इस पर्वतारोही को अब भारत सरकार का सर्वोच्च साहसिक सम्मान तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड 2021 मिलने जा रहा है। केएमवीएन के महाप्रबंधक एपी बाजपेयी ने बताया कि उत्तराखंड की बेटी को यह पुरस्कार मिलना बड़ी उपलब्धि है। यह पुरस्कार हासिल करने वाली शीतल राज (Sheetal Raj) उत्तराखंड की सबसे कम उम्र की पर्वतारोही है।

ऐसे शुरू हुआ साहस का ‘शीतल राज’

शीतल (Sheetal Raj) जब कक्षा दो में पढ़ती थीं, अपनी मां के साथ जंगल जाया करती थीं। तभी से वह ऊंची चोटियों पर चढऩे लगी थीं। इसी शौक के चलते लोगों ने उन्हें प्रेरित किया। इसके बाद शीतल (Sheetal Raj) ने पर्वतारोहण को ही लक्ष्य बना लिया। शीतल के पिता उमाशंकर राज पिथौरागढ़ में टैक्सी चलाते हैं और मां गृहिणी हैं।

ऐसे ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles